Monday, October 19, 2020
Home Family Problem Expert गृह कलह निवारण के अद्भुत उपाय (Family Problem Solution)

गृह कलह निवारण के अद्भुत उपाय (Family Problem Solution)

रिश्तों की डोर बहुत नाजुक होती है, फिर चाहे वह पति-पत्नी हों, सास-बहू हों, पिता पुत्र हों या फिर भाई-भाई, इनके बीच कभी न कभी आपस में टकराव हो ही जाता है। यदि बात नोकझोंक तक सीमित रहे तो ठीक लेकिन यदि कलह का रूप लेने लगे तो पारिवारिक वातावरण तनावपूर्ण हो जाता है। इस आलेख में अनेक प्रकार की समस्याओं के निदान एवं गृह कलह निवारण के अनुभूत उपाय (Family Problem Solution) दिए जा रहे हैं…

गृह कलह की कोई न कोई वजह जरूर होती है जैसे पति-पत्नी के तनाव का मुख्य कारण उनके
घरवालों को लेकर उत्पन्न कलह होती है। कलह के कारण कई बार तो दाम्पत्य जीवन में तनाव इतना बढ़ जाता है कि तलाक तक की नौबत आ जाती है। इससे बचाव का एक सरल सा रास्ता यह है कि जब भी आप अपने लड़के या लड़की के गुणों का मिलान कराएं तो गुणों के साथ-साथ पत्री पर भी ध्यान दें। कई बार कलह बच्चों के जन्म को लेकर भी होता है जिसकी वजह से गृह क्लेश  (Family Problem Solution) काफी बढ़ जाता है।

दाम्पत्य जीवन में कलह के कुछ मुख्य कारण इस प्रकार हैं।

लड़के या लड़की की पत्री में सप्तम भाव में शनि का होना या गोचर करना।

किसी पाप ग्रह की सप्तम या अष्टम भाव पर दृष्टि होना या राहु, केतु अथवा सूर्य का वहां बैठना।

पति-पत्नी की एक सी दिशा या शनि की साढ़े साती का चलना भी कलह एवं तलाक का एक कारण
होता है।

शुक्र की गुरु में दिशा का चलना या गुरु में शुक्र की दिशा का चलना भी एक कारण है।

कलह को दूर करने के कुछ उपायों का वर्णन यहां किया जा रहा है:-

अगर कलह का कारण शनि ग्रह से संबंधित है तो शनि ग्रह की ्यांति कर सकते हैं, शनि यंत्र पर जप कर सकते हैं और शनि की वस्तुओं का दान भी कर सकते हैं। इसके अतिरिक्त सात मुखी रुद्राक्ष भी धारण कर सकते हैं। यह उपाय शनिवार को सायंकाल के समय करना ठीक होता है ।

अगर गृह कलह राहु से संबंधित हो तो राहु यंत्र पर राहु के मंत्र का जप करें एवं 8 मुखी रुद्राक्ष धारण करें। यह सभी प्रकार के कलहों व बाधाओं से मुक्त करता है और राहु के दुष्प्रभाव का निवारण करता है। इसके लिए राहु का दान भी कर सकते हैं।

अगर गृह क्ले्य का कारण केतु ग्रह हो तो उसकी वस्तुओं का दान एवं उसके मंत्र का जप करें। केतु यंत्र पर पूजा करें। गणे्य मंत्र का जप करें। 9 मुखी रुद्राक्ष भी धारण कर सकते हैं।

अगर गृहस्थ जीवन में कलह किसी पराई स्त्री की वजह से हो तो ये उपाय करें।

नंउंतपदम ळमउ ैजवदम धारण करें। नीलम और हीरा भी धारण कर सकते हैं। व्यीकरण यंत्र पर जप करके भी कलह को समाप्त कर सकते हैं। गौरी शंकर रुद्राक्ष भी धारण कर सकते हैं और शीघ्र प्रभाव के लिए मातंगी यंत्र भी अपने घर में पूजा के स्थान पर स्थापित कर सकते हैं।

कई बार देखने में आता है कि न तो ग्रहों की परेशानी है, न ही पत्री में दिशा एवं गोचर की स्थिति खराब है। फिर भी गृह कलह है जिसके कारण बात तलाक तक पहुंच जाती है। ऐसे में यह धारणा होती है कि किसी ने कुछ जादू टोना अर्थात तांत्रिक प्रयोग तो नहीं किया। अगर ऐसा लगे तो ये उपाय करें:

घर में पूजा स्थान में बाधामुक्ति यंत्र स्थापित करें।

शुक्ल पक्ष में सोमवार को उत्तर द्यिा में मुख करके पति और पत्नी गौरी्यंकर रुद्राक्ष धारण करें।

पत्नी शुनंउंतपदम धारण करें और पति नीलम और हीरा धारण करें।

शयन कक्ष में शुक्र यंत्र की स्थापना करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -

Most Popular

अगरबत्ती जलाने के फायदे और नुकसान (Agarbatti Jalane ke Fayde Aur Nuksan)

अगरबत्ती जलाने के फायदे (Agarbatti Jalane ke Fayde) भारत (India) में अगरबत्ती (Agarbatti) का प्रचलन प्राचीन काल (Ancient Time) से ही जारी है। अगरबत्ती जलाने के...

किसी से मित्रता करने के हेतु वशीकरण (Vashikaran to be friend)

यदि आपको किसी से मित्रता की प्रबल इच्छा हो और मित्रता होने में कठिनाई हो रही हो तो यह प्रयोग सफलता दे सकता है।...

सुख और सफलता के लिए अपनाये ये वास्तु टिप्स (Vastu tips for Happiness and Success)

सुबह सो कर उठने के साथ ही प्रतिदिन अपनी हथेलियों को ध्यानपूर्वक देखें और उन्हें तीन बार चूमें। शनिवार के दिन से इसे प्रारंभ...

गृह कलह निवारण के अद्भुत उपाय (Family Problem Solution)

रिश्तों की डोर बहुत नाजुक होती है, फिर चाहे वह पति-पत्नी हों, सास-बहू हों, पिता पुत्र हों या फिर भाई-भाई, इनके बीच कभी न...

Recent Comments